बदलता मौसम कर रहा है बीमार? इन 5 घरेलू तरीकों से करें अपना इलाज

On November 18, 2017 0 Comment

मौसम में बदलाव अपने साथ लेकर आता है सर्दी-खांसी और बुखार. खासकर सर्दियों में खांसी, जुखाम, गले में खिचखिच, शरीर, जोड़ों, गले, आंखों में दर्द जैसी कई परेशानियां होती हैं. इसके लिए कई दवाइयां ली जाती है. कई तरह के एंटीबायोटिक्स खाई जाती हैं. लेकिन आप इन सब परेशानियों को बिना दवाइयों के भी ठीक कर सकते हैं. आपके किचन और घर में मौजूद चीज़ों से भी सर्दी-खांसी का इलाज हो सकता है. यहां जानिए 5 घरेलू उपाय, जिन्हें फॉलो कर आप बदलते मौसम में दुरुस्त रहेंगे.

1. सूप
चिकन या वेजिटेबल सूप, जब भी आपको सर्दी या गले में खिचखिच लगे तो सूप पीएं. आप चाहे तो चिकन और सब्जियों दोनों से बना सूप भी पी सकते हैं. ये आपके शरीर में अपर रेस्पिरेटरी इंफेक्शन को कम करता है. अपर रेस्पिरेटरी एक वाइरल इंफेक्शन है जिसका सीधा असर नाक, गले, श्वासनली और फेफड़ों में होता है. लो-सोडियम सूप भी अच्छे न्यूट्रिशियन्स का बेहतरीन सोर्स होता है जो आपके शरीर को हाइड्रेट करता है.

soup 650

2. अदरक

सदियों से अदरक को सर्दी-खांसी ठीक करने के लिए इस्तेमाल में लाया जा रहा है. इसके साइंटिफिक सबूत भी हैं कि ये कफ और गले को आराम पहुंचाता है. इसके लिए कच्चे अदरक के टुकड़े को पानी में उबाल कर पीएं. स्टडी भी बताती है कि अदरक इम्यूनिटी को बूस्ट करता है और बीमारियों से शरीर की रक्षा करता है.

ginger has stomach soothing properties

3. लिक्विड

ये आपके शरीर के ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर बनाते हैं. गले को सूखने नहीं देते और हाइड्रेट भी रखते हैं. गरम पानी, हर्बल चाय, फलों का जूल या अदरक के पानी ये लिक्विड अपनी-अपनी खूबियों से सर्दी और खांसी को दूर करते हैं.

green tea

4. शहद
इसमें कई एंटीबैक्टिरियल और एंटीमाइक्रोबाइल प्रोपर्टीज़ होती हैं. रोज़ाना शहद और नींबू के पानी से गले के दर्द में आराम मिलता है. शहद खांसी दूर करने में काफी सहायक है. लेकिन एक साल से छोटे बच्चों को कभी भी शहद नहीं देना चाहिए, क्योंकि कई बार शहद में बोटुलिनम बीजाणु मौजूद होते हैं जो बच्चों के लिए नुकसानदेयक होता है. ये बीजाणु शहद को गरम करने से भी नहीं मरते.

spoonful of honey rich demulcent

5. स्टीम

सीज़नल वाइरल की वजह से नाक और गले में खुजली को भाप ठीक कर देती है. ये सर्दी को भी जल्दी ठीक कर देती है. लेकिन स्टीम लेते वक्त ध्यान रखें कि ज़्यादा गरम पानी से भाप ना लें. इससे आप जल सकते हैं. आप चाहे तो हॉट शावर भी ले सकते हैं.

steam soothing

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

  • LATEST HINDI NEWS – ताजा हिंदी समाचार

  • राजनीतिक समाचार

  • स्वास्थ्य जानकारी – स्वास्थ्य समाचार