Menu

तनाव , अनिद्रा व् नशे का आंतो पर असर

तनाव , अनिद्रा व् नशे का आंतो पर असर

[vc_row][vc_column][vc_column_text]इरिटेबल बाउल सिंड्रोम पाचनतंत्र से जुडी ये बड़ी आम समस्या हे इसकी भी एक बड़ी वजह हे तनाव या भी अन्य करने से सेहम अपने मस्तिष्क की कार्य प्रणाली जबभी हमारी दिमाग में कोई भी नकारत्मक विचार आते हे तो तो इसका सीधा असर हमारे आता पर होता हे जिससे हमे भी पेट दर्द और कब्ज की भी शिकायत होती हे हलाकि जब व्ही व्यक्ति नींद लेता हे तो उस व्यक्ति को इसका एहसास नहीं होता हे वो भी हो पागल हो जाते हे बो भी उलटी सीधी बाते करने लग जाता हे लोगो को भी यही लगता हे की व्यक्ति भी पागल हो जाते हे |

कारण

1 .इसमें की क्या होता हे की इसमें पेट दर्द होने लगता हे लोगो को भी पता नहीं लगता हे क्या इसमें क्या क्या हो रहा हे

2 .इससे क्या होता हे जब किसे भी व्यक्ति को को पगलो की तरह करने लगता हे जिस तरह से बतायां गया हे की उसके शरीर पर लाल रंग के दाने पड़ जाते हे

3 .और इसके तीसरा कर ये भी होता हे अगर आपके शरीर में कोई भी खून की कमी आती हे तो उसके खून में हीमोग्लोबिन की कमी आ जाती हे जिससे उसके खून की कमी आ जाती हे

4 इसमें क्या होता हे अगर कोई भीव्यक्ति को कोई भी बींमारिओ हो जाती हे तो उसका शरीर भी पीलापन भी आ जाता हे और उसकी बॉडी में खून की कमी होने लगती हे

उपाय

1 . इसमें किसी भी व्यक्ति को तनाव से दूर रहने के लिए उसे क्या करना होगा की उसको कोई भी व्यक्ति यह नहीं कह सकता हे जब वो व्यक्ति किसी भी तनाव में हो तो हो उसको क्या करना चाहिए की उस व्यक्ति को लोगो सेबात कर लेनी चाहिए

2 इसमें क्या होता हे की कोई भी व्यक्ति यदि तनाव से घिरा हुआ हे तो वो क्या करता नशा करने लगता हए उससे क्या होता हे की इससे उसको ही नुक्सान हो सकता हे

३. उसको क्या करना होगा उसको रोजाना सुबह घूमने जाना होगा वह जाकर वो लोगो से मिलेगा तो उसको उनके बारे में जानकारी भी मिलेगी की लोगो से नई सोच के बारे में जान पायेगा ताकि लोगो को भी यही पता लगेगा की वो कुछ भी नहीं करे

4 .जब भी कोई भी व्यक्ति किसी भी तनाव में हो तो उसे क्या करना चाहिए की कोई भी हसी मजाक वाला नाटक देख लेना चाहिए ताकि लोगो कोई भी यही हों चाहिए की लोगो को कुछ भी नहीं होना चाहिए[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *