Menu

चाइना ने भारत को दी सलाह की किस तरह भारत की अर्थववस्था को दूसरे देशो की अर्थववस्था से जोड़ा जा सकता हे :

चाइना ने भारत को दी सलाह की किस तरह भारत की अर्थववस्था को दूसरे देशो की अर्थववस्था से जोड़ा जा सकता हे :

[vc_row][vc_column][vc_column_text]चाइना ने भारत को दी सलाह की किस तरह भारत की अर्थववस्था को दूसरे देशो की अर्थववस्था से जोड़ा जा सकता हे :

चीन ने भी भरत को सलाह दी हे वो किस तरह से अपने देश की की अर्थव्वस्था को दूसरे देशो की अर्थववस्था से जोड़ सकता हे | चाइना के प्रधान मंत्री का कहना हे भरत आज भी एक ऐसा देश हे झा सभी तरह की अर्थववस्था के बारे में जाना जा सकता हे | चाहिना कस यह भी कहना हे भरत में भी अपने देश की अर्थववस्था को सुधारने के लिए सब से पहले उसे क्या करना होगा की |

किसानो की अर्थववस्था को सही करना होगा

आज भारत के अर्थववस्था भी इसलिए सही नहीं चल रही की अपने देश के किसानो को सही तरह से मुनफा नहीं मिल रहा उन्हें हर बार की तरह सरककर की तरफ से कोई भी मुनाफा नहीं दिया जा सकता हे| भारत के किसानो का कहना हे की आज भी भारत 40 % किसानो को सही तरह अपना मुनाफा नहीं मिल पता हे जिससे क्या होता हे | की वो लोग ये क्या हुआ हमे तो कुछ भी नहीं फायदा नही हुआ तो इससे हमे तो कुछ भी फायदा नहीं हुआ हे ऐसा सोचने पर किसान की कोई भी किअम सही तरह से नहीं करते | फिर क्या होता हे की इसका सीधा फर्क हमारे देश की अर्थववस्था पर पड़ता हे और हमारे देश के किस्सनो को भी मुआफ़ भी चाहिए |

 

सरकार भी क्या करती हे की उन्हें कोई भी लाभांश नहीं देती हे जिससे क्या होता हे की हमारे देश के किसान कर्जे में रह जाते हे | वो भी यह सोच क्र जीवन यापन करते हे की सरकार तो कोई भी मदद करेगी हमारी जिससे हमारे देश की अर्थववस्था को भी आसनी से सही क्या जा सकता हे |

अर्थववस्था को सही चलन में किस तरह से लाया जाये |

अगर भारत को अपनी अर्थववस्था को सही तरह से अपने चलन में लाना हे तो सरकार को क्या करना होगा की सरकार को किसानो के लिए बाजेर मूल्य के आधार के ऊपर मूल्य को सही तरह से रखना होगा ताकि किसानी में किसी भी प्रकार का कोई भी मन मुटाव नहीं हो | और किसानो सही समय नई नई टेक्नोलॉजी उपलब्ध कराई जा सके जिससे किसानो को भी नई नई टेक्नोलॉजी के बारे में भी बतया जा सके[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *