Menu

भारत और चीन हे युद्ध की कगार पर

भारत और चीन हे युद्ध की कगार पर

[vc_row][vc_column][vc_column_text]चीन ने डोकलाम के लेकर भारत के साथ जारी तनातनी के बहाने चीन हजारो टन सैन्य समान तिब्बत के लिया भेजा हे |

इससे क्या साबित होता हे की चीन भारत के साथ युद्ध के तयारी में लगा हुआ हे अगर हम सूत्रों के मुताबिक़ माने तो मीडिया रिपोर्टर के अनुस्सर यह भी बताया गया हे की सैन्य तैनाती में इसके सिक्किम सीमा के पास नहीं हे बल्कि पश्चिम में शिनजियांग प्रांत के निकट उत्तरी तिब्बत में किया गया है|

हलाकि हम चीन के यादोग से चीन के ल्हासा के बीच के रेलमार्ग की माने तो सड़क नेटवर्क के माध्यम से चीन सैन्य समान को सिक्किम सीमा के पास नाथू -ला तक पहुंच सकता हे वहा से यह दूरो लगभग 700 किलोमीटर की दुरी तय करने में लगेगी |

और चीन की सेना को वहा पहुंचने 5 से 7 घंटे लग सकते हे साउथ चाइना मॉर्निंग ने लिखा चीन के लिए लिखा हे की अशांत तिब्बत और शिनजियांग प्रांत में पश्चिमी थिएटर कमांड ने उत्तरी तिब्बत में कुनलुन पर्वतों के दक्षिण में सैन्य साजोसामान को समान भेजे हे |

 

हलाकि पीएलए डेली ने यह नहीं बताया हे की यह सामान चीन सेना के अभ्यास के लिए भेजा हे व्ही पर सघाई स्थित सैन्य टिप्पणीकार नी लेशियॉन्ग ने यह भी कहा हे की सैन्य मूवमेंट सीमा के तनाव से से भी जुड़ा हुआ हे इससे भारत सरकार को यह यह भी फर्क पड़ना चाहिए की चीन को क्या लगताहै किस तरह से अपने आप को साबित करना चाहता हे लोगो को भी यही लगाना चाहिए की आप किस तरह से चीन सेना की बातचीत को लेकर यही पता चलता हे की लोगो को भी इसके बारे में पता नहीं चलता हे |

वही पर देहुआ कहते हे की चीन को इस पठार को चीन की पठारी भाग को सैन्य सड़क मार्ग को जोड़ते हुए सड़क नेटवर्क इलाके सहित की इंफ्रास्ट्रक्चर को उनसे जोड़ती हे कहा ज जा रहा हे की समंवर्ती इलाके में सैन्य सामन को आसनी से वजह सकता हे |

[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *