Menu

हेपेटाइटिस के लक्षण पहचाने |

हेपेटाइटिस के लक्षण पहचाने |

[vc_row][vc_column][vc_column_text]विश्व भर में हेपेटाइटिस-सी से पीड़ित 90 फिस्सडी मरीजों का समय पर इलाज कर उनकी जान बचाई जा सकती हे |विश्व हेपेटाइटिस दिवस हर साल 38 जुलाई को मनाया जाता हे |

लिवर में फैलता संक्रमण

हेपेटाइटिस लिवर में होने वाला संकमण हे | इसका पता शुरू अवस्ता में नहीं लगता | लेकिन आगे राह ल लिवर सियोसिस व् लिवर फेल्यूर तक का रूप ले लेता हे | भूख न लगाना ,त्वचा व् आंको में पीलापन ,पेटदर्द ,हल्का बुखार मुख्य लक्षण हे |

इन्हे हे खतरा

संक्रमित रक्त व् सुई या माँ से शिशु को इन्फ़ेक्सन योन सबंध गंदगी व् सोचालयो फैले कीटाणुओं के सम्पर्क में आने वालो को रोग का अधिक खतरा |

विषैले तत्वों से भी बढ़ सकता हे |

दवाओं के दुस्प्र्भाव और शरीर में विषैले तत्वों की मात्रा बढ़ने से भी लिवर प्रभावित होता हे यह स्थित ऑटोइम्यून हेपॅटाइन कहलाती हे |

बताया जाता हे की हेपेटाइटिस से पीड़ित मरीजों का उपचार तीन से छह महीने में दवाओं को पूरा कोर्स लेने टीकाकरण करवाने से सम्भव हे लापरवाही के कारण रोगी को भविष्य में लिवर सिरोसिस व् लिवर कैंसर की आंशका रहती हे |

हम आपको बता देते हे की हेपेटाइटस के प्रमुख पांच हे इ.बी.सी हेपेटाइटिस इ एक्यूट और बी ,सी दी अवस्ता हे जो गर्बवती महिला को जयदा प्रभवित करती हे | रोग से बचाव के लिए उम्र के विभिन्न पड़ाव पर हेपेटाइटिस ए , बी का टीका प्रमुख रूप से लगाए हे |[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *