Menu

महाराष्ट्र से हटा रिजर्वेशन ,भारत से कब ख़त्म होगा |

महाराष्ट्र से हटा रिजर्वेशन ,भारत से कब ख़त्म होगा |

[vc_row][vc_column][vc_column_text]महाराष्ट्र में सुप्रीम कोर्ट ने रिजर्वेशन हटाने का एलान कर दिया हे , महाराष्ट्र में सरकारी नोकरियो में आरक्षण हटा दिया गया हे , बॉम्बे हाई कोर्ट ने यह अहम फैसला लिया हे , इस फैसले के बाद गौरतलब हे की लोगो में इस फैसले के बाद पदोन्नति में आरक्षण लाभ ले चुके हे उनके लिए खतरे की बात आ गयी हे , उन लोगो का मानना हे की हम लोगो पर अब प्रमोशन छीनने का मामला सामने आया हे हम इसे राजनीति का सबसे बड़ा मुद्दा भी मान सकते हे |

महाराष्ट्र सरकार का मानना हे की हमने 2004 में एक नियम के तहत एक जीएआर निकालकर सरकारी नोकरियो में पदोन्नति में का आरक्षण लागू किया था |इसके अनुसार हम अआप्को बता देते हे की अनुसूचित जातियों को 13 फीसदी और अनुसूचित जनजाति को 7 फीसदी , भटक्या विमुक्ति (बंजारा) जाति -जमाति और विशेष तौर पर पिछड़े वर्गों के लिए 13 फीसदी आरक्षण लागू किया था.

हलाकि सुप्रीम कोर्ट का मानना हे की इस आरक्षण को तब मेट के नाम से खारिज कर दिया गया था , लेकिन इसके अनुसार हम आपको पहले ही बता चुके हे की बॉम्बे हाई कोर्ट ने इस चुनौती को भी खारिज कर दिया हे | लेकिन यहां के जजों ने इस पर सहमति के लिए सुनवाई करते हे कहा हे की हमे इस बात से कोई भी फर्क नहीं पड़ता हे की आप लोग इस बात को लेकर किए तरह अपने आप को सहमति दे सकते हो |

भारत से कब हटेगा आरक्षण .

इसके साथ ही लोगो का यह मानना हे की महाराष्ट्र में तो सुप्रीम कोर्ट ने आरक्षण को रद्द कर दिया हे | इसके साथ हे हम कहना चाहते हे की यदि ये नियम भारत में भी लागु हो जाये तो लोगो के लिए कितने फायदे वाली बात हे ,|

जनजातीय लोगो को मिलेगा फायदा .

यदि ये नियम मोदी सरकार भारत में भी लागु कर देती हे तो इस आधार पर यह कह सकते हे की जनजातीय लोग हे उनको भी सरकारी नौकरी पाने का एक मौका मिल सकता हे | और वे लोग भी देश के विकास में अपनी भूमिका को निभा सकते हे |

इसके साथ हम ये भी कह सकते हे की इससे देश के विकास में भी लोगो अपनी योगदान दे सकते है | और मान लीजिये अगर ये नियम हमारे देश में लागू भी हो जाता हे तो इससे भ्र्स्टाचार से भी हमारे देश को मुक्त किया जा सकता हे , जो अनुसूचित जनजाति के लोग हे उन लोगो को देश के बारे में नई तकनीकों का विकास किया जा सकता हे |

अगर भारत से आरक्षण को रद्द कर दिया जाए तो , हम अपने देश के लोगो को भी एक मौका दे सकते हे और अपने जनजाति लोगो को सरकारी नौकरी पाने का भी एक मौका मिल सकता हे |[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *