Menu

केटोजेनिक डाइट से, बच्चो को मिर्गी से बचाना

केटोजेनिक डाइट से, बच्चो को मिर्गी से बचाना

[vc_row][vc_column][vc_column_text]केटोजेनिक डाइट से, बच्चो को मिर्गी से बचाना

क्या आपको पता है की केटोजेनिक डाइट के सेवन से हम बच्चो को मिर्गी तथा डाइबिटीज़ से बचा सकते है | केटोजेनिक डाइट सामान्यतः वजन कम करने के कम आती है जिससे की कई बीमारियों से दूर रह सकते है | केटोजेनिक डाइट हाई प्रोटीन डाइट होती है जिसे की बॉडी का वजन कम करने के कम आती है |

केटोनिक डाइट में विटामिन्स ,कार्बोहाइड्रेट व प्रोटीन को शामिल नहीं किया जाता है जिससे की बॉडी को अपनी जरुरत पूरी करने के लिए केटोजेनिक डाइट पर निर्भर हो जाता है | इसमें बॉडी अपने आप कीटोसिस में चली जाती है |

केटोजेनिक डाइट फॉलो करने पर आप दिन भर फ्रेश रहते है तथा आपकी बॉडी में तखन मसहूस नहीं होती है | आपको इससे अपनी बॉडी का वजन कम करने में सहायता मिलती है |

केटोजेनिक डाइट प्लान

केटोजेनिक में आप पनीर ,प्याज ,ऑलिव आयल ,पत्ता गोभी ,नारियल तेल , हरी सब्जिया जेसे -पालक ,मेथी ,ग्रीन बिन्स ,दही,वॉलनट्स आदि चीजे खा

सकते है |

केटोजेनिक डाइट के काम करने की प्रक्रिया

केटोजेनिक डाइट लेने से आपकी बॉडी एनर्जी लेने के लिए फेट का उपयोग करती है | केटोसिस पांच से छ: दिन के अंदर आपकी बॉडी के फेट को बर्न

करने लगता है जिससे की आपका वजन कम होने लगता है |

केटोजेनिक डाइट से होने वाले नुकसान

केटोजेनिक डाइट लेने बॉडी में कार्बोहाइड्रेट की कमी आ जाती है जिससे की आपको शरीर में थकान महसूस होने लगती है | आपके ब्लड शुगर लेवल कम हो जाता है | यह समस्या कुछ दिनों के लिए ही होती है और खुछ दिनों बाद आप इस डाइट को फॉलो करने से आपको शरीर के अंदर एक नै एनर्जी महसूस होने लगती है |[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *