Menu

भारत में बढ़ रही है बेरोजगारी,प्रधानमंत्री है अनजान

भारत में बढ़ रही है बेरोजगारी,प्रधानमंत्री है अनजान

[vc_row][vc_column][vc_column_text]भारत में बेरोजगारी लगातार बढ़ती जा रही है | लेकिन प्रधानमंत्री के आकड़ो से लगता है की वह इस बात से अनजान है | भारत उन देशो में से है हर साल नोकरिया की कमी के कारण लाखो लोग बेरोजगार होते जा रहे है | और नोकरियो के अवसर घटते जा रहे है | जिससे की सभी लोगो को नोकरिया नहीं मिल पा रही है |

लेकिन स्वतन्त्रता दिवस के दिन दिए प्रधान मंत्री के भासन से लगता है की नौकरियो के बहुत अवसर सरकार के दुवारा उपलब्ध किये जा रहे है | और उन नोकरियो को करने के लिए लोग कम रह रहे है | लेकिन सच्चाई कुछ और ही है | लेकिन रोजगार पर अध्यन करने वाली संस्था SHOM की रिपोर्ट के अनुसार हर साल भारत में लगभग 1.5 करोड़ नवयुवक अपनी प्रारम्भिक शिक्षा पूरी कर रोजगार की तलाह में लग जाते है |

लेकिन उनमे से केवल लगभग 3 फीसदी युवा ही अच्छी नौकरी ले पाते है और कुछ प्राइवेट नौकरी करते है | लेकिन इनमे अधिकांश युवको की संख्या बेरोजगारी की होती है जिनको कोई भी रोजगार नहीं मिलपाता है | और हर साल इन बेरोजगारों का आकड़ा बढ़ता जाता है | और नोकरियो की संख्या कम होती जाती है | जिससे की हर युवा को अपनी योग्यता को अलग रख कर अलग काम करना पड़ता है | जिसमे उनको कई बार असफलता का सामना करना पड़ता है|

प्रधानमंत्री योजना नरेंद्र मोदी ने अनेक ऐसी योजना चला रही है जिसकी वजह से रोजगार पैदा होने के अवसर पैदा होने के आसार है | लेकिन इन योजनाओ का किर्यान्वयन सही तरीके नहीं हो रहा जिससे की यह योजना सफल नहीं हो पा रही है जिससे रोजगार उपलब्ध नहीं हो पा रहा है |

यह योजनाए केवल कागजो में ही सिमट कर रह गई है इनको जमीनी स्तर में लागु करने की आवश्यकता है जिससे की यह योजनाए रोजगार उपलब्ध करवा सके |

जब से नरेंद्र मोदी सरकार आई है तब से कई योजनाए जैसे की मेक इन इंडिया , कौसल विकाश योजना ,स्किल इंडिया आदि | इन योजनाओ का किर्यान्वयन सही तरिके से किया जाये तो ये योजनाए कई लोगो को रोजगार उपलब्ध करवा सकती है जिससे थोड़ी बहुत बेरोजगारी ख़तम हो सके |[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *