Menu

SBI ने अपने खाता धारको से वसूले 235 करोड़ रूपए

SBI ने अपने खाता धारको से वसूले 235 करोड़ रूपए

[vc_row][vc_column][vc_column_text]स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (एसबीआई ) ने अपने खाता धारको से मिनिमम बैलेंस नहीं होने के कारण उनसे जुर्माना वसूला है | SBI ने यह राशि लगभग 388 लाख खाता धारको से वसूली जिनका मिनिमम बॅलन्स मेन्टेन नहीं था |

SBI ने यह राशि खाताधारको को बिना किसी सुचना दिए उनके बैंक बैलेंस से काट लिया गया है | यह राशि उन बैंक ACCOUNTS से वसूली गई जिनके पास मिनिमम बैलेंस नहीं है | ज्यादातर गरीब लोगो को इस परशानी का सामना करना पड़ा क्योकि वह बैंक अकाउंट खुलवाने के बाद कम इनकम होने के कारण वह उसमे पैसे नहीं डाल पाते है | जिससे की उनसे मिनिमम बैलेंस मेन्टेन नहीं हो पाता है |

यह जानकारी सामाजिक कार्यकर्ता द्वारा डाली गई आरटीआई के माध्यम से हुई है | इस आरटीआई में स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया से पूछा गया था की किस आधार पर बैंक द्वारा यह राशि वसूली गई और कितनी राशि वसूली गई | स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया ने इसके जवाब में यह अकड़े पैसे किये |

गरीब लोग हो रहे इससे परेशान

इनमे ज्यादातर उन लोगो को के अकाउंट है जो की गरीब है और अपने अकाउंट में अधिकतर समय कम पैसा रखते है | जब उन अकाउंट में पैसे रखते है तो ज्यादा समय के लिए पैसे नहीं रख पाते क्योकि वह अधिकतर लोग जरूरत पड़ने उन पैसो का उपयोग कर लेते है |

आरटीआई कार्यकर्ता ने कहा की जो लोग इससे प्रभावित हो रहे है उन लोगो इसकी जानकारी नहीं है | वह इस बात से अनजान है अगर उन लोगो को बताया जाये तो वह इस संध्या का समाधान निकाल सकते है | एसबीआई सबसे बड़ी बैंक ऑर्गनाइजेशन है जिसमे सबसे अधिक खाताधारक है उसको भी अपने सभी खाताधारको के हितो की रक्ष्या करने की जरुरत है |

आरटीआई कार्यकर्ता ने यह भी कहा की जिस तरह से एसबीआई अकाउंट मेन्टेन करने के नाम पर पैसा वसूल रही है ऐसी कोई भी नियम RBI ने नहीं बनाये हुए है | और इसके लिए उसने कोई भी गाइडलाइन नहीं दे रखी है | और एसबीआई अपने नए नियम बना कर यह पैसा वसूल कर रही है |

एसबीआई ने यह भी नहीं बता रखा की कितनी मिनिमम राशि बैंक अकाउंट में होनी चाहिए | जिससे की लोग इससे जाग्रत हो अपना बैंक अकाउंट के मिनिमम बैलेंस को मेन्टेन रखे |[/vc_column_text][/vc_column][/vc_row]

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *