Menu

सरकारी बैंको के हड़ताल से भारी नुकशान,जनता को हुई परेशानी

सरकारी बैंको के हड़ताल से भारी नुकशान,जनता को हुई परेशानी

सरकारी बैंको के एक दिन के देशव्यापी हड़ताल से बैंक सेक्टर को भरी नुकशान झेलना पड़ा | और नुकशान के साथ ही जनता को भी पैसो के लेन देन में काफी परेशानी हुई | 22 अगस्त को सरकारी बैंको की हड़ताल थी जिसकी वजह से बैंको में होने वाले काम नहीं हो पाए जिससे की बैंक सेक्टर को 22000 करोड़ तक का नुकशान उठाना पड़ा |

और एटीएम में पैसो की किल्लत होने से जनता को भी इससे काफी परेशानी हुई | सरकारी बैंको की यह हड़ताल उनके कर्मचारियों की मांग पूरी नहीं होने के कारण हुई | सभी कर्मचारियों ने अपनी मांगे पूरी करने के लिए इस हड़ताल का आह्वान किया था और उन्होंने कहा था यह हड़ताल सिर्फ सरकार को अपनी मांगे पूरी नहीं होने पर की गई है और अगर आगे भी मांगे पूरी नहीं हुई तो अग्गे भी इसी प्रकार बैंको में कामकाज बंद रहेगा |

बैंको की हड़ताल का देश में असर

सरकारी बैंको की हड़ताल का देश भर में व्यापक असर देखा गया | कई जगहों पर इस हड़ताल से लोगो को परेशानी हुई और जगह पर इस हड़ताल का काम असर हुआ | छोटे शारो में इस हड़ताल का ज्यादा असर देखने को मिला | छोटे शहरो में बैंको के एटीएम में पैसो की कमी के कारण लोगो को दिक्क्तों का सामना करना पड़ा |

बैंको का काम काज हुआ परभावित

हड़ताल की वजह से बैंको का कामकाज भी प्रभावित हुआ | बैंकों में चेक क्लियरेंस, मनी ट्रांसफर, कैश रैमिटेंस और डिपॉजिट एवं विदड्रॉल जैसी सेवाएं बाधित रही | जिससे प्राइवेट सेक्टर के बैंको पर असर देखने को मिला इससे लगभग 22000 करोड़ का नुकशान होने का अंदाजा है |

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *