Menu

CBI का छापा ,बैंक निदेशक सहित कई लोगों पर FIR दर्ज :सृजन महाघोटाला

CBI का छापा ,बैंक निदेशक सहित कई लोगों पर FIR दर्ज :सृजन महाघोटाला

सृजन घोटाले की जांच कर रही सीबीआई ने पहली बड़ी कार्रवाई की है। सीबीआई ने कर्रवाई करते हुए भागलपुर के सृजन महिला विकास समिति और सहरसा की बैंक ऑफ बड़ौदा के डायरेक्टर के खिलाफ एफआइआर दर्ज किया है।

 

इसके अलावा सीबीआई ने भागलपुर के बैंक ऑफ बड़ौदा के पूर्व डायरेक्टर, पूर्व कैशियर और सहायक भूमि अधिग्रहण कार्यालय के प्रमुख सहित आठ लोगों के खिलाफ भी एफआइआर दर्ज किया है। सीबीआई ने इस मामले में कई अज्ञात लोगों के खिलाफ भी मामला दर्ज किया है।

बता दें कि करीब 1300 करोड़ रूपये से ज्यादा के इस घोटाले की जांच सीबीआई कर रही है। 14 साल पहले यानी साल 2003 में इस घोटाले को अंजाम दिया गया था। जानकारी के मुताबिक सीबीआई जल्द ही कई बैंक कर्मचारियों और अधिकारियों से भी पूछताछ करेगी। सीबीआई की रडार पर कई बड़े नेता भी हैं।

बता दें कि 1300 करोड़ से अधिक राशि के सृजन महाघोटाले की जांच अब सीबीआइ के जिम्मे है। सीबीआइ ने पहली कार्रवाई करते हुए सृजन एनजीओ की संस्थापक मनोरमा देवी और बैंक अॉफ बड़ौदा के डायरेक्टर पर एफआइआर दर्ज की है। बता दें कि मनोरमा देवी ही सृजन महिला विकास समिति की संस्थापक थीं जिनकी इसी साल फरवरी महीने में मौत हो चुकी है।

बिहार सरकार ने इस घोटाले की जांच के लिए केंद्र सरकार से सीबीआइ जांच की अनुशंसा की थी जिसे केंद्र सरकार ने स्वीकार कर लिया और अब सीबीआइ इसकी जांच शुरू कर दी है।

सीएम नीतीश ने कहा- जिन्हें जांच पर शक हो वो कोर्ट जा सकते हैं

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा है कि सृजन घोटाले की जांच सीबीआई को सौंप दी गई है। यदि किसी को सीबीआई पर शक है तो वह उच्च न्यायालय, सर्वोच्च न्यायालय की शरण में जा सकता है। कोर्ट यदि जांच कार्य की मॉनिटरिंग करे तो हमें कोई एतराज नहीं है।

विधान परिषद में भोजनावकाश के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि इस फर्जीवाड़े, जालसाजी में जो भी शामिल होंगे, उन्हें बख्शा नहीं जाएगा। जांच पूरी गहराई से होगी। यदि किसी के पास कोई दस्तावेज है, तो उसे सीबीआई को दीजिए। अब खजाना लूटना संभव नहीं होगा। कोई घटना भविष्य में नहीं हो ऐसा प्रयास सरकार कर रही है।

एक-एक जिले से रिपोर्ट मांगी जा रही है। वित्त विभाग ने काम शुरू कर दिया है। सभी विभागों को अपने सभी एकाउंट को सही सलामत देखने को कहा गया है।

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *