Menu

BJP ने दिया धोखा डील थी केस हटाएंगे :बाबा की बेटी

BJP ने दिया धोखा डील थी केस हटाएंगे :बाबा की बेटी

खुलासा किसी ऐसे वैसे ने नहीं बल्कि खुद राम रहीम की तीन बेटियों में से एक हनी प्रीत इंसा ने किया है। एक स्थावनीय सांध्य‍ दैनिक से खास बातचीत में हनीप्रीत ने कहा है कि ”बीजेपी ने चुनाव जीतने के बाद डेरा प्रमुख के खिलाफ सारे केस खत्म करने का वादा किया था।” हनी प्रीत के मुताबिक ”बीजेपी ने हम सबको धोखा दिया है।”

और क्या -क्याे कहा है हनी प्रीत ने :

सोशल मीडिया पर उस स्थाजनीय सांध्यह दैनिक की कटिंग वायरल हो रही है। अखबार के मुताबिक हनी प्रीत इंसा ने कहा है कि ‘2014 में चुनाव से पहले बीजेपी के कुछ शीर्ष नेताओं ने राम रहीम के साथ इस तरह की डील की थी। डील में तय हुआ था कि राम रहीम अपने समर्थकों से बीजेपी के पक्ष में वोट डालने की अपील करेंगे। राम रहीम से भाजपा द्वारा वादा किया गया था कि अगर उनके समर्थन के बाद भाजपा सत्ता में आती है तो उनपर लगे सारे आपराधिक मुकदमों को खत्म करवा दिया जाएगा।’

बाबा की हुई थी अमित शाह से मीटिंग :

हनी प्रीत ने दावा किया कि हरियाणा के विधानसभा चुनाव के लिए वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर पार्टी के राष्ट्रीय पदाधिकारी अनिल जैन और अरुण ने भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह से बाबा की मुलाकात कराई थी। इस मीटिंग में तय हुआ था कि गुरमीत राम रहीम के प्रभाव वाली 28 विधानसभा सीटों पर भाजपा के पक्ष में वोट डालने का फरमान जारी करेंगे।बेटी ने खुलासा किया कि इसके एवज में खुद भाजपा हाईकमान से जुड़े नेताओं ने बाबा से पूछा था कि आपको क्या चाहिए? तब बाबा ने कहा था कि उनके खिलाफ यौन शोषण का झूठा मुकदमा चल रहा है उसे खत्म कराएं।

बाबा को भाजपा के करीब लाने में कैलाश विजयवर्गीय का योगदान रहा हरियाणा में लोकसभा और विधानसभा चुनाव में बाबा को भाजपा के करीब लाने में पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का योगदान है। सोशल मीडिया पर विजयवर्गीय और बाबा की चुनाव के दौरान मुलाकात की कई तस्वीरें वायरल हैं। पूरे घटनाक्रम में कैलाश विजयवर्गीय ने बलात्कारी गुरमीत राम रहीम के मामले में मीडिया के सामने किसी भी तरह की टिप्पणी नहीं की है।

 

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *