Menu

बेनजीर हत्याकांड में मुशर्रफ को किया भगोड़ा घोषित, दो आरोपियों को जैल

बेनजीर हत्याकांड में मुशर्रफ को किया भगोड़ा घोषित, दो आरोपियों को जैल

एक दशक से लंबित बेनजीर हत्याकांड पर सुनवाई के बाद पाकिस्तान के आतंक निरोधी अदालत (ATC) की ओर से गुरुवार को बेनजीर हत्या कांड पर फैसला सुनाया गया जिसमें दो को कैद और पांच आरोपियों को बरी कर दिया गया। और परवेज मुशर्रफ को भगोड़ा घोषित कर दिया गया है। एटीसी जज अशगर अली खान ने बुधवार को फैसला सुरक्षित रखा था।

बेनजीर भुट्टो की 2007 में रावलपिंडी में नृशंस हत्या कर दी गई थी। और इस हत्या के पीछे मुशर्रफ का हाथ बताया जा रहा था | 10 साल तक इस आतंक निरोधी अदालत (ATC) में इसकी सुनवाई हुई और कोर्ट ने कल सुनवाई ख़तम करते हए 5 लोगो को इसमें बरी कर दिया और 2 को जैल की सजा सुनाई गई | और मुशर्रफ को दोषी मानते हुए उसको भगोड़ा घोसित कर दिया गया |

कौन थी बेनजीर भुट्टो

बेनजीर भुट्टो पाकिस्तान के कराची में हुआ था | और पाकिस्तान के जाने मने पॉलिटिशियन पाकिस्तान पुपिल्स पार्टी के नेता जुल्फिकार की बेटी थी | भुट्टो ने हार्वर्ड यूनिवर्सिटी और दा यूनिवर्सिटी ऑफ़ ऑक्सफ़ोर्ड से पड़े की थी और ऑक्सफ़ोर्ड यूनिवर्सिटी की परसिडेंट भी रह चुकी थी |

बेनजीर भुट्टो ने अपने पिता के मरने के बाद पाकिस्तान पुपिल्स पार्टी की कमान अपने हातो में ली और पाकिस्तान की दो प्रधानमंत्री बनी | बेनजीर भुट्टो ने 1988 से 1990 तक और 1993 से 1996 तक पाकिस्तान के प्रधानमंत्री बनी | बेनजीर भुट्टो की 2007 में हत्या करा दी गई | और इसमें मुशर्रफ का पर कॅश चलाया गया जिसके फेसले में उन्हें भगोड़ा घोसित कर दिया गया |

एक साल बाद हुई केश पर सुनवाई

पांचों संदिग्धों के खिलाफ मुख्य सुनवाई जनवरी 2008 में शुरू हुई जबकि मुशर्रफ, अजीज तथा शहजाद के खिलाफ सुनवाई फेडरल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी की नई जांच के बाद 2009 में शुरू की गई। इस अवधि में आठ अलग-अलग न्यायाधीशों ने मामले की सुनवाई की। .बेनजीर की हत्या के लिए शुरू में टीटीपी के प्रमुख बैतुल्ला मेहसूद को जिम्मेदार ठहराया गया। मुशर्रफ की सरकार ने मेहसूद की एक अन्य व्यक्ति के साथ बातचीत का टेप जारी किया जिसमें वह हत्या के लिए व्यक्ति को बधाई दे रहा है। बता दें कि पीपीपी सरकार ने 2009 में बेनजीर मर्डर केस में फिर से जांच के आदेश दिए और एफआइए के जेआइटी ने जनरल मुशर्रफ, सऊद अजीज और एसएसपी खुर्रम शहजाद को आरोपी बताया था

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *