Menu

नोटबंदी पर आरबीआई के आकड़ो पर ,जेटली को क्यों देनी पड़ी सफाई

नोटबंदी पर आरबीआई के आकड़ो पर ,जेटली को क्यों देनी पड़ी सफाई

आरबीआई ( रिज़र्व बैंक ऑफ़ इंडिया ) ने नोटबंदी पर अकड़े जारी किये जिससे मोदी सरकार को खुछ परेशानी हो सकती है | क्योकि जो आरबीआई ने आंकड़े दिए है वह सरकार के खिलाफ जाते है | और नोटबंदी पर जो सरकार ने जो बाटी कही थी | आरबीआई के आंकड़े झुटलाते है |

आरबीआई के आकड़ो के आने के बाद विपक्ष ने भी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है | इसको देखते हुए सरकार की तरफ से वित् मंत्री अरुण जेटली को मैदान पर आना पड़ा और आकड़ो पर मोदी सरकार की और से सफाई दी |

8 नवम्बर को जब प्रधानमंत्री मोदी ने देश को 500 और 1000 के नोटों को अघोषित काटे हुए बोला था की नोटबंदी के ऐलान के दौरान पीएम मोदी ने नोटबंदी के काफी तर्क दिए थे. PM ने कहा था कि भारत के आर्थिक सिस्टम में कैश की तादाद काफी ज्यादा है, हमें जल्द ही कैशलेस इकॉनोमी की ओर कदम बढ़ाने होंगे. पीएम ने कहा था कि अधिक कैश होने के कारण सिस्टम में भ्रष्टाचार के चांस बढ़ जाते हैं. इसके द्वारा हवाला करने वालों को बढ़ावा मिलता है, जिससे कालेधन में भी बढ़ोतरी होती है.

जेटली ने नोटबंदी पर सफाई देते हुए क्या कहा

नोटबंदी पर सरकार की और से सफाई सेट हुए कहा की विपक्ष नोटबंदी की आलोचना कर रहा है | क्योकि विपक्ष ने कभी भी भरस्टाचार के खिलाफ कोई कदम नहीं उठाया और हमेशा इसको बढ़ावा दिया है | लेकिन जब से मोदी सरकार आई है तब से भरस्टाचार को काम करने के कई कदम उठाई रही है | और नोटबंदी भी इसका एक उदहारण है | सरकार चाहती थी की लोगो का पैसा बैंकिंग सिस्टम में आये और जो पैसा बैंकिंग सिस्टम में आया है वो पुरा पैसा वेध नहीं है | और सरकार उन लोगो को नोटिस भेज रही जिसका गलत सोर्स से पैसा आया हुआ है | और नोटबंदी से बैंको में पैसा आने पर टैक्स देने वालो की संख्या बड़ी है |

आतंकियों और अलगावादियों की कमर टूटी

अरुण जेटली ने नोटबंदी पर बोलते हुए कहा की नोटबंदी होने से अलगावादियों को फंडिंग न मिलने से उनकी कमर टूट गई है जिससे अलगववादी पैसो की कमी के कारण इनकी आतंकी गतिविधियों में कमी आयी है | और जो लोग पैसो का गलत इस्तेमाल करके ऐसे काम करते थे उसमे भी कमी आयी है |

विपक्ष ने आरबीआई के आकड़ो पर सरकार को घेरा

विपक्ष ने आरबीआई के आकड़ो पर सरकार को घेरने की कोशिस की विपक्ष ने कहा की मोदी सरकार ने नोटबंदी के समय जो भी बाटे कही थी उस्समे कोई भी बात सच नहीं हुई है | नोटबंदी से केवल जनता को ही परेशानी का सामना करना पड़ा है |

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *