Menu

आरएसएस ने नरेंद्र मोदी का नोटबंदी और डोकलाम विवाद पर किया बचाव

आरएसएस ने नरेंद्र मोदी का नोटबंदी और डोकलाम विवाद पर किया बचाव

नोटबंदी और डोकलाम विवाद पर घिर रहे नरेंद्र मोदी का आरएसएस ने बचाव करते हुए दोनों मुद्दों पर नरेंद्र मोदी द्वारा उठाये हए कदम की तारीफ की है | क्योकि दोनों ही मुद्दों पर नरेंद्र मोदी फशते हुए नजर आ रहे थे | नरेंद्र मोदी दवारा लिया गया नोटबंदी का फेसला गलत साबित हुआ और जिस उदेस्य से इस फेसले को लिया गया वह पूरा नहीं हो सका | और आरएसएस से जुड़े कई संघटनों ने भी 500 और 1000 के नोट को बंद किये जाने पर मोदी सरकार की आलोचना की थी |

आरएसएस ने नरेंद्र मोदी का बचाव करते हुए क्या कहा

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) ने कहा कि इससे देश को लंबे समय में फायदा होगा. इसके साथ ही संघ ने डोकलाम गतिरोध से निपटने को लेकर केंद्र की सराहना की और कहा चीनी सैनिकों की वापसी से भारत की ‘प्रतिष्ठा’बढ़ी है | डोकलाम से चीनी सैनिकों की वापसी के बाद भारत और उसके सशस्त्र बलों की प्रतिष्ठा अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बढ़ी है. उन्होंने कहा कि चीन अतीत में ऐसे 'दुस्साहसों' में शामिल रहा है, लेकिन यह 'पहली बार' था कि भारत ने अपनी स्थिति 'निर्णायक ढंग से' प्रस्तुत की |

और नोटबंदी पर बोलते हुए आरएसएस के प्रचार प्रमुख मनमोहन वैध ने कहा की नोटबंदी दे कुछ परेशानी हुई है लेकिन नोटबंदी का लिया हुआ फेसला भविष्य में फयदेमंद होगा |

मनमोहन वैध ने सभी बाते आरएसएस की समाप्त हुई 3 दिवशिये बैठक के बाद कही | और उन्होंने कहा की इस बैठक में संघ से जुड़े कई संघटनों ने हिस्सा लिया और भारत की आर्थिक और विदेश निति से जुड़े कई मुद्दों पर अपनी राय रखी | और इस पर सभी ने एक साथ मोदी सरकार द्वारा उठाये गए साहसिक कदमो का समर्थन किया |

क्यों करना पड़ा आरएसएस को मोदी का बचाव

आरएसएस ने नरेंद्र मोदी का बचाव इसलिए किया जिस मकशद से नोटबंदी की गई वो मकशद पुरे नहीं हो पाए | और जनता को इससे परेशानी हुई और नरेंद्र मोदी को इसकी वजह से चारो तरफ से आलोचना का शिकार होना पड़ा | क्योकि नरेंद्र मोदी ने अपने सम्भोधन में कहा था की नोटबंदी से कहा था की नोटबंदी से आतंकवाद ,भर्ष्टाचार , कालाधन ,जालिनोटो को खत्म किया जा सकेगा | और इससे गरीबो को फायदा होगा | लेकिन विभिन्न रिपोर्ट्स द्वारा किये गए खुलाशे में किसी भी मुद्दे पर नोदबन्दी का कोई असर नहीं हुआ है | और नोटबंदी असफल साबित हुआ है |

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *