Menu

जापान में वेध हुई बिटकॉइन

जापान में वेध हुई बिटकॉइन

2009 में शुरू हुई विश्य की पहली डिजटल करेंसी बिटकॉइन शनिवार से जापान में वेध कर दी गयी हे | इसके जरिये अब वहा सेवाओं और वस्तुओ की ख़रीदरोख़्त की जा सकेगी | इसके लिए जापान में एक क़ानून भी बनाया गया हे | अपनी शुरूआत के बाद ही यह करेंसी अमेरिका और चीन जैसे समृद्ध देशो में काफी लोकपिरय हुई हे | हालांकि इसे किसने बनाया आज तक रहस्य हे | इसके बावजूद आज यह पूरी दुनिया में गुप्त तरीको से इस्तमाल हो रही हे |

1 .5 करोड़ :विश्य में चलन में मौजूद कुल अनुमानित बिटकॉइन की संख्या |

2009 में हुई शुरूआत : 2008 में पहली बार बिटकॉइन के सबंध में एक लेख प्रकाशित किया गया हे | लेकिन लोगो के इस्माल के लिए यह 2009 में ओपन सॉफ्टवेयर के रूप में उपलब्ध हुई से अज्ञात कंप्यूटर प्रोग्राम या इनके समूह होता हे |

बिना टेक्स के होता हे लेनदेन

इस मुद्रा को किसी बैंक ने जारी नहीं किया हे | इसलिए यह किसी भी देश की अधिकाधिक मुद्रा नहीं होती | ऐसे में इस पर किसी का टेक्स नही लगता इसलिये यह दुनियाभर में लोकप्रिय हे |

  • बिटकॉइन पाने की प्रकिरिया

    बिटकॉइन खरीदने के लिए यूजर्स www .bitkoin .com पर जाना होता हे | फिर माइनिंग नामक प्रकिरिया से गुजरना होता हे | इसमें कंप्यूटर द्वारा गाडीत कठिन सवाल हल करना होता हे | इसका हल 64 अश्ररों में होता हे |

    यह वर्चुअल मुद्रा या डिजिटल करेंसी हे |

    इस गुप्त करेंसी पर सरकारी नियत्रण नही नहीं होता हे | इसे छिपाकर इस्तमाल किया जाता हे |

    इसे दुनिया में कही भी खरीदा या बेचा जा सकता हे |

    इन्हे रखने के लिए बिटकोईन वॉलेट उपलब्ध होते हे |

    इन्हे अधिकाधिक मुद्रा से भी बदला जाता हे | चुकी यह कोड या अक्षरों में होती हे , इसलिए इसे ना तो जब्त किया जाए सकता हे और नाही नष्ट

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *