Menu

एसिड अटैक होने पर चली गई थी आँखे और चेरे का हुआ था बुरा हाल, लेकिन हॉस्पिटल में मिल गया सच्चा प्यार

एसिड अटैक होने पर चली गई थी आँखे और चेरे का हुआ था बुरा हाल, लेकिन हॉस्पिटल में मिल गया सच्चा प्यार

 प्‍यार शरीर से नहीं आत्‍मा से किया जाता है. इस बात को सच कर दिखाया है सरोज साहू और प्रमोदिनी राउल ने, जिनका प्‍यार सच्‍ची और पाक मोहब्‍बत का जीता-जागता उदाहरण है. प्रमोदिनी महज 15 बरस की थी जब अर्द्ध सैनिक बल के एक सैनिक ने उन्‍हें शादी के लिए प्रपोज किया, जिसे उन्‍होंने नकार दिया. इस बात से नाराज उस शख्‍स ने उनके मुंह में एसिड फेंक दिया. इस हादसे में प्रमोदिनी अपनी दोनों आंखें गंवा बैठीं और उनका चेहरा गंभीर रूप से झुलस गया. हादसे के बाद उनका ज्‍यादातर समय अस्‍पताल के बिस्‍तर पर बीत रहा था. ऐसे में उन्‍होंने कभी सोचा नहीं होगा कि कोई उनके दिल के दरवाजे पर प्‍यार की दस्‍तक देगा.

यह भी पढ़े :- लड़की ने सरेआम उठाया स्कर्ट, बोली देखो

प्रमोदिनी के चेहरे की सर्जरी करने के लिए डॉक्‍टरों ने उनके पैर के मांस का इस्‍तेमाल किया. एक बार तो आधे-अधूरे ट्रीटमेंट के बाद उन्‍हें अस्‍पताल से डिस्‍चार्ज कर दिया गया, जिसके चलते उनके पैर में इंफेक्‍शन हो गया. पैर में भरे पस का इलाज कराने के लिए वो एक बार फिर अस्‍पताल पहुंच गई और इस दौरान उनकी मुलाकात सरोज कुमार साहू से हुई. सरोज अस्‍पताल की एक नर्स के दोस्‍त थे. डॉक्‍टरों ने प्रमोदिनी की मां को बताया कि उन्‍हें चलने में कम से कम चार साल लगेंगे. इस बात को सुनकर मां के सब्र का बांध टूट गया और वो फूट-फूट कर रोने लगी. उन्‍हें इस तरह रोता देखा सरोज ने उन्‍हें ढांढस बंधाते हुए मदद के लिए हाथ आगे बढ़ाया.

यह भी पढ़े :- पत्नी को छोड़ सास से प्यार कर बैठा,अजीब प्यार

शुरू-शुरू में प्रमोदिनी और सरोज एक-दूसरे बात तक नहीं करते थे. सरोज रोज़-रोज़ अस्‍पताल जाते और प्रमोदिनी को दिलासा देते. फिर एक दिन सरोज ने अपनी नौकरी छोड़ दी और दिन के आठ घंटे वो अस्‍पताल में प्रमोदिनी की सेवा करते. अब दोनों एक साथ समय बिताने लगे और उनमें प्‍यार भी परवान चढ़ने लगा. हालांकि प्रमोदिनी अपनी हालत को देखते हुए किसी रिश्‍ते में बंधने से झ‍िझक रही थीं. लेकिन जब सरोज ने उन्‍हें शादी के लिए प्रपोज किया तो उन्‍हें एहसास हो गया कि अब उनके अलावा वो कहीं और नहीं रह सकतीं.

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *