Menu

दिल्ली ऑड-ईवन : सोमवार से लागु नहीं होगा , सरकार ने दो पहिया वाहन पर रोक को बताई वजह

दिल्ली ऑड-ईवन : सोमवार से लागु नहीं होगा , सरकार ने दो पहिया वाहन पर रोक को बताई वजह

मुख्‍यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने अपने घर पर बुलाई अधिकारियों और मंत्रियों की बैठक में फैसला लिया है कि ऑड-ईवन सोमवार से लागू नहीं होगा. आपको बता दें कि इससे पहले एनजीटी ने अपने आदेश में वीआईपी, महिलाओं और टू व्‍हीलर को छूट देने से इनकार कर दिया था.

यह भी पढ़े :- NGT ने दिल्ली सरकार के सामने ये रखे सवाल , आज होगा ऑड-ईवन पर फैसला

इस बैठक में फैसला लिया गया है कि दिल्‍ली सरकार सोमवार को एनजीटी में पुनर्विचार याचिका दाखिल करेगी. इस याचिका में महिलाओं और दो पहिया वाहनों को ऑड-ईवन के दौरान छूट देने की मांग की जाएगी. दिल्‍ली सरकार के ऑड-ईवन को वापस लेने की दूसरी वजह है कि शनिवार को पीएम 10 और पीएम 2.5 का स्‍तर 500 और 300 से कम हैं इसलिए ऑड-ईवन को वापस ले रही है.

दिल्ली सरकार के सूत्रों के मुताबिक, ऑड-ईवन के दौरान दो पहिया वाहन पर रोक लगने से करीब 35 लाख यात्रियों का एक्स्ट्रा बोझ आएगा, जिसके लिए कोई तंत्र मौजूद नहीं है. इतना ही नहीं महिला सुरक्षा भी बड़ा मुद्दा है और किसी भी सूरत में महिलाओं की ऑड-ईवन के दौरान ड्राइविंग पर रोक नहीं लगा सकते. अगर एनजीटी इन दो मुद्दों पर नहीं मानी तो ऑड-ईवन होगा, वरना नहीं.

यह भी पढ़े :- NGT ने दिल्ली सरकार को कहा , कहा- भगवान मदद कर रहे हैं आपकी स्थिति अपने आप सुधर रही है

 

आप विधायक सौरभ भारद्वाज ने ट्वीट करके कहा है कि दिल्‍ली सरकार महिलाओं की सुरक्षा को दांव पर नहीं लगा सकती है. उन्‍होंने कहा है कि ऑड-ईवन में महिलाओं को छूट नहीं मिल जाती तब तक हम इसे लागू नहीं करेंगे.

आपको बता दें कि इससे पहले एनजीटी ने ऑड-ईवन को मंजूरी दे दी थी और इसके साथ कुछ शर्तें भी रखी थी. एनजीटी ने कहा था कि किसी भी अधिकारी, दो पहिया वाहनों और महिलाओं को छूट नहीं दी जा सकती. एनजीटी ने कहा था कि ऑड-ईवन के दौरान सिर्फ इमरजेंसी गाड़ियां जैसे एंबुलेंस, फायर ब्रिगेड, कूड़ा उठाने वाली गाड़ियों को छूट मिलेगी.

 यह भी पढ़े :- NGT ने दी ऑड-इवन को मंजूरी ,महिलाओ और बाइकर्स को नहीं दी छूट

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *