Menu

चीन के लिये खतरा बनकर उभर रहा हे भ्रष्टाचार , ऐसी हो जायगी स्थित

चीन के लिये खतरा बनकर उभर रहा हे भ्रष्टाचार , ऐसी हो जायगी स्थित

विश्व पर शासन करने की ख्वाहिश पालने वाला चीन खुद ही अपना सबसे बड़ा दुश्मन बना हुआ है. लिहाजा उसका भी वही हाल होगा, जो सोवियत संघ का हुआ था यानी सोवियत संघ की तरह चीन भी ढह जाएगा. चीन में भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान से जुड़े एक वरिष्ठ अधिकारी ने ही इस बात का दावा किया है. चीन की सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के पोलितब्यूरो के सदस्य यांग शिआओडू ने कहा कि अगर भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान में विफलता मिलती है, तो यह देश के लिए बेहद घातक साबित होगा.

शिआओडू को सेंट्रल कमीशन फॉर डिसिप्लिन इंस्पेक्शन के डिप्टी सेक्रेटरी से प्रोमोट करके पोलितब्यूरो का सदस्य बनाया गया है, जो भ्रष्टाचार के खिलाफ अभियान में शामिल देश के दूसरे नंबर के शीर्ष अधिकारी माने जाते हैं. मालूम हो कि पोलितब्यूरो के सदस्यों का देश की सत्ता में पूरा नियंत्रण होता है. इस दौरान शिआओडू ने पूर्ववर्ती सरकार की कड़ी आलोचना भी की. उन्होंने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने भ्रष्टाचार को फूलने-फलने दिया. भ्रष्टाचार के खिलाफ नरमी बरती गई और कार्रवाई करने में उदासीनता दिखाई गई, जिसके चलते सत्तारूढ़ पार्टी का नेतृत्व कमजोर हो गया.

चीन के सरकारी अखबार पीपुल्स डेली के संपादकीय लेख में शिआओडू ने कहा कि चीन में भ्रष्टाचार इस हद तक बढ़ गया है कि अगर इसको खत्म नहीं किया गया, तो देश खतरे में पड़ जाएगा और बर्बाद हो जाएगा. उन्होंने कहा कि अगर समय रहते भ्रष्टाचार पर लगाम नहीं लगाया गया, तो भविष्य में सत्तारूढ़ पार्टी और देश के लोग को सोवियत संघ और ईस्टर्न ब्लॉक की तरह तबाही देखने को मिलेगी. भ्रष्टाचार के चलते देश सोवियत संघ और ईस्टर्न ब्लॉक की तरह ढह जाएगा. मालूम हो कि 1990 के दशक के शुरुआत में सोवियत रूस बिखर गया था.

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *