Menu

PFI सदस्य ने किया एलान ,ISIS ज्वाइन करने का पूरा प्लान

PFI सदस्य ने किया एलान ,ISIS ज्वाइन करने का पूरा प्लान

राष्ट्रीय जांच एजेंसी की गिरफ्त में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया के सदस्य शाहजहां कैंडी ने पूछताछ में कई अहम जानकारी दी हैं. एनआईए की जांच में उसने सीरिया जाने और आईएसआईएस ज्वाइन करने जैसे सवालों पर जवाब दिए हैं. आजतक को पूछताछ की वो एक्सलूसिव रिपोर्ट मिली है, जिसमें शाहजहां ने ISIS से जुड़े चौंकाने वाले खुलासे किए हैं.

कन्नूर का रहने वाले शाहजहां कैंडी ने साल 2007-08 में एनडीएफ (पीएफआई का पुराना नाम) की बड़ी जिम्मेदारी मिली. उस वक्त संगठन में 9 सदस्य थे. इसके बाद शाहजहां ने Thejas Daily पेपर ज्वाइन किया. बता दें की ये पेपर पीएफआई ही चलाती है. जिस पर कई बार कट्टरता के आरोप लग चुके हैं. जानकारी के मुताबिक, पेपर ज्वाइन करने के दौरान वो लगातार एनडीएफ के सेमिनार में जाता था और तमाम सदस्यों से मिलता था.

सीरिया जाने की फिराक में था शाहजहां

पीएफआई मेंबर शाहजहां कैंडी को तुर्की पुलिस ने गिरफ्तार कर भारत डिपोर्ट किया था. तुर्की पुलिस ने शाहजहां को सीरिया जाने की कोशिश के दौरान गिरफ्तार किया था. जिसके बाद दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल ने एयरपोर्ट से उन्हें गिरफ्तार किया था.

32 वर्षीय शाहजहां फिलहाल एनआईए की रिमांड पर है.

साल 2010 में शाहजहां ने फेसबुक अकाउंट बनाया. फेसबुक पर उसने फ्री थिंकर और राइट थिंकर नाम के दो ग्रुप ज्वाइन किए. दरअसल इस ग्रुप में केरल के लोग ज्यादा हैं, जहां वो कई और लोगों के संपर्क में आया.

2013 में लौटा था भारत

पूछताछ में खुलासा हुआ है कि 2013 में शाहजहां फिर से भारत लौटा. अब एनडीएफ का नाम पीएफआई हो गया था. यहां आकर शाहजहां एक बार फिर लोगों से जुड़ा और सेमिनार में जाने लगा.. साल 2013 में पीएफआई के केरल में हुए एक बड़े सेमिनार में वो समीर नाम के शख्स से मिला जिसने शाहजहां को हिज्र के लिए मोटिवेट किया.

इसके बाद 2016 में शाहजहां को पता चला कि समीर अपनी फैमली के साथ सीरिया जा चुका है. शाहजहां इसी दौरान समीर से टेलीग्राम के जरिए जुड़ा और फिर समीर ने शाहजहां समेत कई सदस्यों को सीरिया आने के लिए मोटिवेट किया.

ऐसे थी सीरिया जाने की प्लानिंग

जिस रूट से केरल से कई सदस्य सीरिया गए थे, समीर ने शाहजहां और उसके साथियों को वही रूट बताया. भारत से मलेशिया, फिर तेहरान और इस्तांबुल होते हुए सीरिया आने की योजना बनाई गई. रिपोर्ट में खुलासा हुआ है कि 2016 में शाहजहां अपने 2 साथियों के साथ सीरिया जाने की कोशिश में था. इस दौरान उसके दो साथी मुनाफ और शहजील बॉर्डर क्रॉस कर गए लेकिन वो कामयाब नहीं हो सका. जिसके बाद उसने 2017 में फिर जाने की कोशिश की लेकिन टर्की बॉर्डर पर फर्जी पासपोर्ट के साथ पकड़ा गया. आरोप है कि शाहजहां सीरिया जाकर ISIS ज्वाइन करने की फिराक में था.

पूछताछ में शाहजहां ने खुद इस बात का खुलासा किया है कि पीएफआई के सदस्य मुनाफ और शहजील सीरिया जाने में कामयाब रहे.

बता दें कि ऐसा पहली बार हुआ जब कोई पीएफआई का मेंबर सीरिया जाते वक्त पकड़ा गया. पीएफआई पर कई संगीन आरोप पहले से लगते रहे हैं. केरल सरकार ने हाई कोर्ट में एफिजेविट दाखिल कर पीएफआई पर दर्ज हुए केस का खुलासा किया था. साथ ही थेजस जेली न्यूज पेपर को पीएफआई का माउथपीस बताया था. पीएफआई पर धर्म परिवर्तन का भी आरोप लगता रहा है. हालांकि पीएफआई ने दिल्ली में पुलिस के मना करने के बावजूद प्रदर्शन कर इसे केंद्र सरकार की साजिश बताया है.

 

 

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *