Menu

अब गूगल में दर्ज एड्रेस और आईडी से होगी वोटर्स की पहचान

अब गूगल में दर्ज एड्रेस और आईडी से होगी वोटर्स की पहचान

अगर आपके पास वोटर कार्ड नहीं है और आपने पर्ची भी खो दी, बावजूद इसके आप आसानी से वोट डाल सकेंगे। दिल्ली इलेक्शन कमीशन में वोटर्स को गूगल से जोड़ रहा है। गूगल में उनका नाम और ऐड्रेस सब कुछ दर्ज होगा। देश में पहली बार दिल्ली से इसकी शुरुआत हुई है। फिलहाल पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर इसे राजधानी के 5 विधानसभा क्षेत्रों पटपड़गंज, रोहिणी, बादली, मटियामहल और मालवीय नगर में शुरू किया गया है। इसे 30 नवंबर तक पूरा करने का टारगेट है।

गूगल से ऐसे जुड़ेंगे वोटर

- एसडीएम (इलेक्शन) संदीप दत्ता कहते हैं कि वोटर का नाम और पूरा पता, पोस्ट ऑफिस, घर के पास लैंडमार्क को गूगल से अटैच किया जाएगा। इसमें वोटर का घर कितने देशांतर और अक्षांश पर है, ये भी होगा। पांच विधानसभा क्षेत्रों के बाद दिल्ली में दूसरी जगह भी इसे शुरू किया जाएगा।

घर बैठे ही वोटर लिस्ट में जुड़ेंगे

- अगर आप घर के किसी मेंबर का नाम वोटर लिस्ट में दर्ज कराना चाहते हैं, तो इलेक्शन ऑफिस जाने की जरूरत नहीं पड़ेगी। बीएलओ (बूथ लेवल ऑफिसर) आपके घर आएगा और घर पर ही आपके फैमिली मेंबर्स के नाम वोटर लिस्ट में जोड़ देगा। यह प्रक्रिया भी देश में पहली बार दिल्ली में शुरू की जा रही है।

कलरफुल वोटर कार्ड मिलेगा

- मतदाताओं को नॉर्मल के बजाय विशेष तौर पर कलरफुल वोटर कार्ड दिए जाएंगे। एक अफसर के मुताबिक, अगर वोटर के पास आईकार्ड और पर्ची नहीं है तो भी उसे वोट डालने का मौका दिया जाएगा। उसे केवल मतदान केंद्र पर अपना कोई आईकार्ड लेकर जाना होगा और गूगल में दर्ज नाम और पते को दिखाना होगा।

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *