Menu

पाकिस्तान देश बाटने का काम 70 साल में नहीं कर पाया , भाजपा ने 3 साल में कर दिया: केजरीवाल

पाकिस्तान देश बाटने का काम 70 साल में नहीं कर पाया , भाजपा ने 3 साल में कर दिया: केजरीवाल

आम आदमी पार्टी (आप) के संयोजक अरविंद केजरीवाल ने केंद्र में सत्तारूढ़ भाजपा पर आरोप लगाया कि वह सांप्रदायिकता की राजनीति कर पाकिस्तान के हित साध रही है.

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने रविवार को आप के पांचवें स्थापना दिवस समारोह में देशभर से जुटे कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए कहा, ‘देश बेहद नाजुक दौर से गुजर रहा है, जबकि हिंदू मुसलमान को आपस में लड़ाकर देश को बांटने की कोशिश की जा रही है. हिंदू मुसलमान के नाम पर भारत को बांटना ही पाकिस्तान का सबसे बड़ा मकसद और सपना है.’

उन्होंने भाजपा पर हमला बोलते हुए कहा, ‘जो लोग देश को हिंदू मुसलमान के नाम पर बांट रहे हैं, वे पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के एजेंट हैं, वे राष्ट्रभक्त का चोला पहने देशद्रोही हैं.’

केजरीवाल ने कहा कि देश को तोड़ने का जो काम आईएसआई 70 साल में नहीं कर पाई, वह काम भाजपा ने तीन साल में कर दिया.

इतना ही नहीं, भाजपा पर आरोपों के बीच केजरीवाल ने आप में मचे अंदरूनी घमासान पर भी पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि जब पार्टी और देश के हितों में विरोधाभास हो तो पार्टी के हितों को भूल जाना और देश के हित में काम करना.

भ्रष्टाचार के मामले पर भी केजरीवाल ने भाजपा को आड़े हाथों लिया. उन्होंने कहा कि कांग्रेस की तरह ही केंद्र की भाजपा सरकार ने भी तीन साल में घोटालों की झड़ी लगा दी है.

उन्होंने गुजरात विधानसभा चुनाव का हवाला देते हुए कहा कि अब समय आ गया है कि भाजपा की सरकारों को कांग्रेस की तरह ही उखाड़ फेंका जाए.

केजरीवाल ने रामलीला मैदान से ही गुजरात के मतदाताओं से भाजपा को हराने वाले उम्मीदवार को वोट देने की अपील की चाहे वह आप का उम्मीदवार हो या किसी अन्य दल का.

स्थापना दिवस समारोह में सामने आया अंदरूनी घमासान

इससे पहले पार्टी के असंतुष्ट नेता कुमार विश्वास ने भी आप के स्थापना दिवस पर रामलीला मैदान में आयोजित पार्टी के राष्ट्रीय सम्मेलन में मंच से अपने मन की भड़ास जमकर निकाली. पार्टी नेतृत्व पर कार्यकर्ताओं की बात न सुनने और अहंकारी रवैया अपनाने का आरोप लगाते हुए उन्होंने कहा कि कुछ लोग दूसरे दलों से आकर आप को उसके मकसद से दूर कर रहे हैं.

आप नेता कुमार विश्वास (फोटो: कुमार विश्वास ट्विटर)

आप नेता कुमार विश्वास (फोटो: कुमार विश्वास ट्विटर)

विश्वास ने किसी का नाम लिए बिना कहा, ‘मुझे पांच छह महीनों में पहली बार बोलने का मौका मिला है. पिछले पांच महीनों की संवादहीनता के कारण जितनी बेचैनी मुझे हुई है, वह मैं समझा सकता हूं और जिन्हें पांच साल से बोलने नहीं दिया गया उन्हें कितनी बेचैनी होगी.’

उन्होंने पार्टी छोड़कर गए आप नेताओं को भी वापस लाने की उम्मीद जताते हुए कहा कि पार्टी के कुछ ईमानदार संस्थापक सदस्य गलतफहमियों, संवादहीनता और अहंकार की वजह से छोड़ कर गए थे. उन्हें फिर से राजनीति के बदलाव के इस आंदोलन से जोड़ना होगा.

केजरीवाल की गैरमौजूदगी में विश्वास ने कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए दिल्ली सरकार के कामकाज की जमकर तारीफ भी की.

भाजपा का एजेंट बताने वाले पार्टी विधायक अमानतुल्ला खान के आरोपों का भी जवाब देते हुए विश्वास ने कहा, ‘कुछ षडयंत्रकारी हमारे बारे में कहते हैं कि हम दूसरे दल में चले जाएंगे. उन्हें मैं बताना चाहता हूं कि मैं कहीं नहीं जाऊंगा, आप में रहकर ही अंदर और बाहर के आंदोलन को सुचारु रखूंगा, क्योंकि हमारे लिए राजनीति का पहला और अंतिम पड़ाव आमा आदमी पार्टी ही है.

हालांकि पार्टी की दिल्ली इकाई के संयोजक गोपाल राय ने विश्वास के आरोपों का परोक्ष जवाब देते हुए कहा, कुछ धोखेबाज लोग मीर जाफर की शक्ल में अभी भी पार्टी में मौजूद हैं उन्हें बाहर करने की जरूरत है. उनकी जबान पर देशभक्ति होती है और दिल में सांसद विधायक बनने की लालसा होती है. कुछ लोग पार्टी संयोजक का पद मांगते हुए आप छोड़ कर चले गए.

राय ने कहा कि पार्टी में बैठे मीर जाफरों से भी हमें लड़ना आता है, लड़ाई अभी शुरू हुई है.

इससे पहले विश्वास ने उन्हें पार्टी से बाहर निकालने का मुद्दा उठाते हुए कहा कि उन्हें अपमानित कर पार्टी छोड़ने पर मजबूर करने की साजिश रची जा रही है. उन्होंने कहा मैं इस मंच के माध्यम से सूचित करना चाहता हूं कि मैं अभिमन्यु हूं, मेरी हत्या में भी मेरी विजय है.

सम्मेलन में आप की 22 राज्यों की इकाईयों के लगभग 1500 प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया. इनमें पंजाब से सांसद भगवंत मान, पार्टी के प्रवक्ता आशुतोष और उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कार्यकर्ताओं को संबोधित कर आप की अब तक की उपलब्धियों का लेखाजोखा पेश किया.

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *