Menu

किसानो के लिये फायदेमंद होगा ये बजट , मोदी सरकार करेगी ये घोषणाएं

किसानो के लिये फायदेमंद होगा ये बजट , मोदी सरकार करेगी ये घोषणाएं
मोदी सरकार बजट को पेश करने की तैयार‍ियों में जुट गई है. बजट में आम आदमी को क्या तोहफे मिल सकते हैं, इसको लेकर कयास लगाए जाने शुरू हो गए हैं. इस बीच ये भी उम्मीद जताई जा रही है कि ये बजट कृषि पर फोकस होगा. पिछले कुछ समय से कृष‍ि काफी बुरे दौर से गुजर रही है. ऐसे में मोदी सरकार का फोकस कृष‍ि की हालत सुधारने के साथ ही 2022 तक किसानों की आय दुगुना करने के अपने वादे की तरफ बढ़ने पर हो सकता है.

मनरेगा का बढ़ सकता है फंड

डच बैंक ने भी इसी तरफ इशारा करते हुए कहा है कि सरकार का फोकस इस बार कृष‍ि के क्षेत्र में सुधार करने पर होगा. बैंक ने उम्मीद जताई है कि सरकार इस बजट में मनरेगा के लिए फंड में बढ़ोतरी कर सकती है. इसके साथ ही किसानों को सीधे लाभ पहुंचाने समेत कई उपाय इस बजट में किए जा सकते हैं.

एसोचैम की हिदायत, कृष‍ि पर हो ज्यादा फोकस

इससे पहले इंडस्ट्री बॉडी एसोचैम भी सरकार को हिदायत दे चुकी है कि उसे इस बजट में कृष‍ि पर ज्यादा फोकस करना चाहिए. एसोचैम की ये बात इसलिए भी अहम है क्योंक‍ि मौजूदा समय में न कृषि और न ही किसान के हालात अच्छे हैं. कृष‍ि देश की जीडीपी में करीब 17 फीसदी की हिस्सेदारी रखती है. यह सेक्टर 50 फीसदी वर्कफोर्स को रोजगार देता है, लेक‍िन बेमौसम बारिश, कर्ज का बोझ, कम न्यूनतम समर्थन मूल्य (MSP) और बाजार तंत्र ने किसानों की कमर तोड़ कर रख दी है.

कृष‍ि निर्यात को बढ़ावा देगी सरकार?

वर्ष 2016-17 में कृष‍ि निर्यात गिरा है. 2013-14 के 43.23 अरब डॉलर के निर्यात के मुकाबले यह गिरकर 33.87 अरब डॉलर पर आ गया है. दूसरी तरफ कृषि आयात लगातार बढ़ता जा रहा है. 2013-14 में यह 15.03 अरब डॉलर था, जो वित्त वर्ष 2016-17 में 25.09 अरब डॉलर हो गया है. ऐसे में उम्मीद जताई जा रही है कि सरकार निर्यात बढ़ाने के लिए नई घोषणाएं कर सकती है. ऐसा इसलिए भी हो सकता है क्योंकि जब भी निर्यात बढ़ता है, तो कृषि‍ उत्पादों की कीमतें नियंत्रण में रहती हैं और इसका किसानों का फायदा मिलता है.


Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *