Menu

बंगले में मैंने अपने पैसे से सामान लगाया था, निकाल ले गया; आरोप बेबुनियाद: अखिलेश यादव

बंगले में मैंने अपने पैसे से सामान लगाया था, निकाल ले गया; आरोप बेबुनियाद: अखिलेश यादव
सपा प्रमुख और पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने सरकारी बंगले में तोड़फोड़ के मामले में बुधवार को सफाई दी। उन्होंने कहा, "मेरे ऊपर लगाए सभी आरोप बेबुनियाद हैं। बंगले के जो फोटो दिखाए जा रहे हैं, उसमें सच्चाई छुपाई जा रही है। मैं सिर्फ वही सामान लेकर गया हूं, जिन्हें मैंने अपने पैसे से लगाया था।" उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा राज्य में हुए चुनावों में हार पर बौखलाई हुई है और ऐसे आरोप लगा रही है। बता दें कि अखिलेश यादव ने सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 2 जून को सरकारी बंगला खाली किया था।

अखिलेश यादव ने मीडिया को दिखाई टोंटी, कहा- इसे लौटाने आया हूं

-अखिलेश यादव ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर बताया कि मैं टोंटी लेकर आया हूं जो गायब हो गई थी। वही लौटाने आया हूं। सीएम आवास में भी बहुत सारा मेरा सामान है, वो सब लौटा दें सीएम। लोग प्यार में अंधे होते हैं, लेकिन गुस्से में कितने अंधे होते हैं, वो अब दिख रहा है।

- " पिछले सवा साल में मेरे घर एक हजार बच्चे आए होंगे। उन सबसे पूछो कि कहां है स्वीमिंग पूल। जो स्वीमिंग पूल है ही नहीं, उस पर खबर बना दी गई कि पूल पर मिट्टी डाल दी गई।"

- "मैं प्रधानमंत्री नहीं बनना चाहता, लखनऊ में ही रहना चाहता हूं। जो सामान मेरा था, उसे ले गया।''

- "आज भी वहां पर जो वुडन फ्लोरिंग लगी है, मंदिर है और अन्य चीजें हैं, मैंने अपने पैसे से लगवाई हैं।''

- तोड़फोड़ की खबरों पर अखिलेश यादव ने कहा कि बंगला खाली करने के बाद सीएम योगी के ओएसडी अभिषेक और आईएएस अफसर मृत्युंजय नारायण वहां गए थे। मैं पूछना चाहता हूं कि वह क्या करने गए थे? ये लोग फोटोग्राफर लेकर गए थे।

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *