Menu

क्यों कांग्रेस के लिए कर्नाटक की हार 'सिर उठाकर' चलने की वजह है...

क्यों कांग्रेस के लिए कर्नाटक की हार \'सिर उठाकर\' चलने की वजह है...
 गुजरात में बहुमत भले ही नहीं मिल पाया था, लेकिन कांग्रेस ने मिले जनसमर्थन को 'नैतिक जीत' घोषित किया था, और BJP ने उसका जमकर मज़ाक उड़ाया था... अब लगता है, उन्हें उस वक्त चुप रहना चाहिए था, क्योंकि अब कर्नाटक में एड़ी-चोटी का ज़ोर लगा देने के बावजूद BJP बहुमत के आंकड़े से पीछे रह गई है, और अब मुमकिन है कि उन्हें 'नैतिक जीत' पर संतोष करना पड़े... बशर्ते वे JDS या कांग्रेस के कुछ विधायकों को 'खरीदने' में कामयाब न हो जाएं, और उस स्थिति में वे अपनी 'नैतिक जीत' को 'अनैतिक' बना डालेंगे...

ऑब्ज़र्वर रिसर्च फाउंडेशन (Observer Research Foundation) के फेलो मिहिर स्वरूप शर्मा ने NDTV.com के लिए लिखे आलेख - Why Congress Defeat In Karnataka Is A Respectable One में कहा है कि इसमें कोई शंका नहीं कि कांग्रेस के पास जश्न मनाने की शायद ही कोई वजह हो, क्योंकि उन्हें तटीय कर्नाटक में बुरी तरह हार का सामना करना पड़ा है - गौरतलब है कि यह इलाका RSS के ध्रुवीकरण से जुड़े प्रयोगों की प्रयोगशाला रहा है - और अब सत्ता की आशा में आगे बढ़ने के लिए उन्हें ऐसी एक पार्टी के पीछे चलना पड़ेगा, जो उनकी तुलना में बेहद कम सीटें ला पाई है... लेकिन इसके साथ ही, यह भी स्पष्ट नज़र आ रहा है कि कांग्रेस के पास अपना सिर उठाकर चलने की भी कई वजहें हैं...

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *