Menu

Shivratri 2018: शिवरात्रि को जरूर करे ये 4 काम , जो कि बहुत जरूरी हे

Shivratri 2018: शिवरात्रि को जरूर करे ये 4 काम , जो कि बहुत जरूरी हे
वर्ष 2018 में महाशिवरात्रि की तिथि को लेकर संशय है क्योंकि इस वर्ष फरवरी माह की 13 एवं 14 दोनों ही तारीखों में चतुर्दशी का संयोग बन रहा है. इस पवित्र त्योहार को दो दिन मनाने की स्थिति बन रही है. कुछ ज्योतिषी 13 फरवरी को मनाने की सलाह दे रहे हैं तो कुछ 14 फरवरी को.

हिंदू पंचांग के मुताबिक, फाल्गुन मास के कृष्ण पक्ष की चतुर्दशी को महाशिवरात्रि का पर्व मनाया जाता है. मान्यताओं के मुताबिक, इसी दिन शिव और पार्वती का विवाह संपन्न हुआ था. शास्त्रों की मानें तो महाशिवरात्रि त्रयोदशी युक्त चतुर्दशी को ही मनाई जानी चाहिए.

 इस हिसाब से 13 फरवरी को ही महाशिवरात्रि मनाई जानी चाहिए. पंडित अरुणेश कुमार शर्मा ने बताया कि काशी पञ्चाङ्ग के अनुसार, 13 और 14 फरवरी को महाशिवरात्रि मनाई जाएगी. इसमें महानिशीथ काल का मुहूर्त 13 फरवरी को रात्रि 12:15 से 01:06 मिनट तक रहेगा. सामान्यतः चतुर्दशी तिथि 13 फरवरी को रात्रि 10:22 से शुरू होकर 14 फरवरी को 12:17 तक रहेगी. अतः 14 को पूर्ण महानिशीथकाल उपलब्ध नहीं होगा. महा निशीथकाल में की गई शिव पूजा ही श्रेष्ठ मानी जाती है. हालांकि कांवड़ जल चढ़ाने और व्रत रखने के लिए 13 और 14 दोनों तारीखें शुभ हैं.

पंचांग के अनुसार वर्ष 2018 में फाल्गुन मास की चतुर्दशी तिथि 13 फरवरी को रात्रि 10 बजकर 22 मिनट से प्रारंभ हो रही है जो दिनांक 14 फरवरी को रात्रि 12 बजकर 17 मिनट तक रहेगी. इसी कारण इस वर्ष यह तिथि दो रात्रियों तक रहेगा. इस वर्ष महाशिवरात्रि का पर्व 13 फरवरी को मनाया जाना ही शुभ होगा.

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *