Menu

जब एक ‘हेडबट’ से जिदान का करियर हुआ खत्म, खिताब जीतने से चूका फ्रांस

जब एक ‘हेडबट’ से जिदान का करियर हुआ खत्म, खिताब जीतने से चूका फ्रांस
फुटबॉल से किसी महानायक की वैसी विदाई नहीं हुई होगी और ना ही कोई चाहेगा जैसी फ्रांस के महान फुटबॉलर जिनेदीन जिदान की रही. अंतरराष्ट्रीय फुटबॉल से संन्यास के फैसले को बदलकर कोच रेमंड डोमेनेक के कहने पर जर्मनी में 2006 में वह वर्ल्ड कप खेलने उतरे. इसके बाद सब कुछ सपने सरीखा रहा और टीम को वह फाइनल तक ले गए.

शानदार फॉर्म में थे जिदान

अंतिम 16 में स्पेन को हराने के बाद फ्रांस का सामना ब्राजील से था, जिसे वह 1998 फाइनल में हरा चुकी थी. ब्राजील के पास रोनाल्डो, रोनाल्डिन्हो और काका जैसे खिलाड़ी थे और उसे हराना नामुमकिन सा लग रहा था.

जिदान की फ्रीकिक पर थियरे हेनरी ने फ्रांस के लिए गोल किया और टीम प्रबल दावेदार ब्राजील को हराकर सेमीफाइनल में पहुंच गई. जिजोउ की पेनल्टी ने टीम को अंतिम चार में भी जीत दिलाई.

फीफा वर्ल्ड कप 2018 में पाकिस्तान से आएगी गेंद, लगी होगी खास चिप

दोनों मैचों में वह फ्रांस की जीत के सूत्रधार रहे और चिर परिचित करिश्माई फॉर्म में नजर आए. उस समय 34 साल के जिदान का वर्ल्ड कप के साथ फुटबॉल को अलविदा कहना तय लगने लगा था, लेकिन नियति को कुछ और मंजूर था.

Leave a Reply
Your email address will not be published. Required fields are marked *
Cancel reply
Leave a Comment
Your email address will not be published. Required fields are marked *